मैं और उनकी तन्हाई

मैं और उनकी तन्हाई
मैं और उनकी तन्हाई

Follow by Email

Saturday, March 2, 2013

हँसने के बाद क्यू रूलाती है दुनिया

हँसने के बाद क्यू रूलाती है दुनिया,
जाने के बाद क्यू भुलाती है दुनिया,
ज़िंदगी मे क्या कुछ कसर बाकी थी,
जो मरने के बाद भी जलाती है दुनिया..

No comments:

Post a Comment